Home > News Window > गणपति पंडाल में शिवसेना के गद्दारों चलचित्र अलंकरण, आधी रात को पंडाल में पहुंची पुलिस, साज-सज्जा का सामान जब्त! देखे पूरी खबर वीडियो के साथ

गणपति पंडाल में शिवसेना के गद्दारों चलचित्र अलंकरण, आधी रात को पंडाल में पहुंची पुलिस, साज-सज्जा का सामान जब्त! देखे पूरी खबर वीडियो के साथ

कल्याण में विजय तरुण मंडल द्वारा पार्टी वफादारी पर फिल्म के रूप में दर्शाया था। वीडियो को देखने और सुनने वाले इसका सही अर्थ जरूर लगा लेगे, लेकिन सत्ता में बैठे लोगों को अपने गढ़ के किले की हिलती नींव देखकर उसको पुलिसिया जामा पहनाना जरूरी था।

X

किरण सोनावणे, ठाणे: 300 पुलिसकर्मी, लाल बत्ती वाली 13 पुलिस गाड़ियां और 5 पिंजरे की कार, समय है रात के 3 बजे, किसी बड़े भाई, नेता या चरमपंथी को पकड़ने के लिए पुलिस की ये बड़ी तैयारी नहीं, ये है की गई तैयारी महाराष्ट्र में गणपति उत्सव के अवसर पर कल्याण में विजय तरुण मित्र मंडल द्वारा बनाए गए एक बहुत ही सुंदर, आश्चर्यजनक और लक्ष्यभेदी करने वाले बोलती टिप्पणी करने वाली सजावट के पंडाल पर रेड करने पहुंची।



सजावट को स्थानीय पुलिस, उपायुक्त ने देखा और बोर्ड द्वारा सुझाए गए परिवर्तनों को स्वीकार कर लिया गया, लेकिन कल आधी रात को जब पूरी सजावट को जब्त कर लिया गया, तो हर जगह आक्रोश और विरोध है। विजय तरुण मंडल ने पुलिस की इस कार्रवाई के खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया है, लेकिन उन्होंने घोषणा की है कि वे इस हिटलरवाद के विरोध में गणपति की स्थापना नहीं करेंगे। अब कोर्ट इस पर क्या रुख अपनाया है यह आने वाले दिनों में पता चलेगा।



महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों से राजनीति गर्म हो गई है, जिसमें शिंदे गुट और ठाकरे गुट सोशल मीडिया से लेकर अन्य बैनर झगड़ों के साथ-साथ एक-दूसरे की वफादारी की आलोचना कर रहे हैं। मौजूदा विजय साल्वी के विजय तरुण मंडल ने पिछले तीन महीनों में शिवसेना में हुई राजनीतिक घटनाओं पर आधारित "पार्टी लॉयल्टी" विषय पर एक फिल्म के लिए एक दृश्य के रूप में प्रदर्शित किया गया था। पुलिस को इसकी जानकारी दी गई पुलिस ने शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पंडाल पहुंची तो वो भी भौचक्की रह गई गद्दारी की फिल्म देखकर। पुलिस ने पंडाल में पंचनामा कर साज सज्जा के कई फोटो और सामानों को जब्त कर लिया जो पंडाल की शोभा थी।


विजय सालवी, स्थानिक शिवसेना नेता


इस फिल्म के सीन की शुरुआत शिवसेना की बात करने से होती है और शिवसेना को एक बड़े पेड़ के रूप में दिखाया गया है। ऐसा ही एक नजारा है जहां इस पेड़ पर फल लगने के बाद दूसरे पक्ष इसे खाने आ जाते हैं। इस बोर्ड के ट्रस्टी और शिवसेना के शहर प्रमुख विजय सालवी उद्धव ठाकरे के समर्थक हैं। बोर्ड के अध्यक्ष भी मुस्लिम समुदाय से हैं। इस अवसर पर विजय सालवी ने कहा कि बोर्ड हर साल होने वाली घटनाओं पर आधारित फिल्मी दृश्य प्रस्तुति करण के रूप में पेश करता है।



" विजय सालवी ने कहा कि बोर्ड का बयान उसी के जरिए पेश किया जा रहा है कि अब शिवसेना में सबसे बड़ी घटना हो रही है, हमने इसे पेश करने की कोशिश की, भले ही हम विजय तरुण मंडल के ट्रस्टी और कार्यकर्ता हैं, हम मूल शिवसैनिक हैं, हमने किया." मुझे यह पसंद नहीं है, इसलिए हमने इसे पेश करने की कोशिश की।



Updated : 2022-09-01T19:35:00+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top