Latest News
Home > News Window > 1 मई से शुरू होने वाले 18+ वैक्सीनेशन मुश्किल में, कई राज्यों ने खड़े किए हाथ, यहां जाने क्या हैं हालात!

1 मई से शुरू होने वाले 18+ वैक्सीनेशन मुश्किल में, कई राज्यों ने खड़े किए हाथ, यहां जाने क्या हैं हालात!

1 मई से शुरू होने वाले 18+ वैक्सीनेशन मुश्किल में, कई  राज्यों ने खड़े किए हाथ, यहां जाने क्या हैं हालात!
X

मुंबई : केंद्र सरकार ने सरकार ने 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी नागरिकों को 1 मई से टीका लगवाने का ऐलान किया था. लेकिन. कई राज्यों में कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता को लेकर अनिश्चितता की स्थिति है. महाराष्‍ट्र और दिल्‍ली जैसे राज्‍यों ने कहा है कि 'उनके पास पार्याप्‍त संख्‍या में डोज नहीं हैं. लिहाजा फिलहाल वैक्सीन नहीं लग पाएगी.' कोरोना वैक्सीन के लिए बीते बुधवार से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुका है. शुरुआती परेशानियों के बाद भी 1 करोड़ 30 लाख लोगों ने वैक्‍सीन के लिए रजिस्‍टर कराया है.

तो चलिए यहां जानते हैं कि वो कौन से राज्य हैं जहां 1 मई से नहीं लग पाएगी वैक्सीनः-

सबसे पहले बता दें कि मुंबई में शुक्रवार से 3 दिन के लिए कोरोना वैक्सीनेशन बंद किया जाएगा, जिसका कारण वैक्सीनेशन की कमी बताई जा रही है. BMS अपने एक बयान में जानकारी देते हुए कहा कि 'स्टॉक ना होने के कारण 18 साल से ऊपर की उम्र के लोगों के वैक्सीनेशन में भी देरी हो सकती है. BMC ने दोहराया कि 45+ के लोगों के लिए टीकाकरण जारी रहेगा.'

इसी के साथ उन्‍होंने ट्वीट में लिखा कि 'मुंबई में सभी सीनियर सिटीजंस से आग्रह है कि वे टीकाकरण केंद्र पर भीड़ न लगाएं या लंबी लाइन में न लगें. वैक्‍सीन की सप्‍लाई में कमी है और यह सभी जगहों पर पर्याप्‍त मात्रा में उपलब्‍ध नहीं है लेकिन बेफिक्र रहें सभी 45+ के लोगों को टीका लगेगा.'

इसी के साथ दिल्‍ली सरकार का कहना है कि 'वह निर्माता कंपनी से वैक्‍सीन की ताजा सप्‍लाई का इंतजार कर रही है. राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने कहा, हमारे पास अभी वैक्‍सीन नहीं है, इसके लिए कंपनी से आग्रह किया गया है, जब ये आ जाएंगी तो हम आपको बताएंगे.'

तो वहीं. मध्य प्रदेश में भी 1 मई से कोरोना वैक्सीन अभियान पर रोक लग जाएगी. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस बीत की जानकारी देते हुए कहा कि 'हमने कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों ही वैक्सीन के लिए कंपनियों को ऑर्डर दिए थे, लेकिन उनसे संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि 1 मई तक वैक्सीन डोज़ उपलब्ध नहीं हो पाएंगी जैसे ही टीका उपलब्ध होगा वैक्सीनेशन का अगला चरण शुरू कर दिया जाएगा.'

बताते चले कि झारखंड में भी 1 मई से कोरोना वैक्सीन नहीं लगेगी. साथ ही बता दें कि झारखंड ने भारत बायोटेक और सीरम को 25-25 लाख टीके का ऑर्डर दिया है, लेकिन वैक्सीन निर्माता कंपनियों को अभी वैक्सीन देने से हाथ खड़े कर दिए हैं जिसके बाद हेल्थ मिनिस्टर बन्ना गुप्ता ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि 'कंपनियों ने कहा है कि केंद्र सरकार का ऑर्डर पूरा करने में ही 15 से 20 मई तक का समय लग जाएगा. इसलिए झारखंड को एक मई तक वैक्सीन मिलना संभव नहीं है.'

बिहार में भी 1 मई से कोरोना वैक्सीन पर रोक लगा दी जाएगी. बता दें कि बिहार में 1 मई से कोरोना वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू होना है, जिस पर फिलहाल रोक लगा दी गई है. क्योंकि वैक्सीन की वजह से ये फैसला लिया गया है. अभी भी बिहार में 5.46 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई जानी है. हालांकि, रजिस्ट्रेशन लगातार जारी रहेंगे.

खबरों की मानें तो गुजरात को सीरम इंस्टीट्यूट से कोविशील्ड के 2 करोड़ डोज और भारत बायोटैक से कोवैक्सीन के 50 लाख डोज जल्द मिलेंगे. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गुरुवार को जानकारी देते हुए कहा कि 'मैं राज्य के उन सभी लोगों से अनुरोध करता हूं कि जैसे ही हमारे पास वैक्सीन का स्टॉक पहुंच जाए, जल्द से जल्द अपना वैक्सीनेशन करवा लें. 15 दिनों के अंदर हमारे पास वैक्सीन का स्टॉक आ जाएगा.' हालांकि, सीएम ने यह भी जानकारी दी कि '1 मई से 18 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीनेट करने के लिए टीका फिलहाल नहीं है.'

आपको बता दें कि तमिलनाडु ने डेढ़ करोड़ कोरोना वैक्सीन के डोज का आर्डर दिया है, लेकिन सूत्रों ने जानकारी दी है कि 'राज्‍य सरकार 18 से 45 के आयुवर्ग के लिए शनिवार से टीकाकरण शुरू होने को लेकर अनिश्चितता की स्थिति में है.' इसी के साथ राजस्थान भी कोरोना वैक्सीन की कमी का लगातार सामना कर रहा है. राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री रघु शर्मा ने जानकारी देते हुए कहा कि 'वैक्‍सीन निर्माताओं ने कहा है कि वे 15 मई से पहले सप्‍लाई नहीं कर पाएंगे.'

उन्‍होंने कहा आगे कहा कि 'हमारे पास स्‍टोरेज में वैक्‍सीन नहीं है. 18+ के टीकाकरण के लिए हमें सात करोड़ वैक्‍सीन चाहिए लेकिन ये हमें समय पर मिलनी चाहिए. राजस्‍थान के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि हमने सीरम इंस्‍टीयूट से बात करके 3.75 करोड़ डोज देने को कहा है लेकिन उन्‍हें पहले केंद्र केंद्र सरकार के आर्डर की पूर्ति करना है इसलिए वे फिलहाल हमें वैक्‍सीन नहीं दे सकते.'

Updated : 30 April 2021 6:01 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top