Top
Home > News Window > वेतन न मिलने पर कंडक्टर ने की आत्महत्या, ठाकरे सरकार को ठहराया जिम्मेदार

वेतन न मिलने पर कंडक्टर ने की आत्महत्या, ठाकरे सरकार को ठहराया जिम्मेदार

वेतन न मिलने पर कंडक्टर ने की आत्महत्या, ठाकरे सरकार को ठहराया जिम्मेदार
X

मुंबई। महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम में काम करने वाले कंडक्टर ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली है। वेतन न मिलने की वजह से वो परेशान चल रहे थे और कर्ज में डूबे हुए थे। उनके परिवार वालों ने बताया कि उन्हें पिछले तीन महीने से वेतन नहीं मिला था और अपनी मौत का जिम्मेदार उन्होंने ठाकरे सरकार को ठहराया है। उनके भाई कहते हैं, "पिछले 3 महीनों से उसे अपना वेतन ठीक से नहीं मिला। उसने अपनी मौत के लिए ठाकरे सरकार का नाम लिया है।

" महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम में बस कंडक्टर के पिता अनिल चौधरी कहते हैं, "मेरा बेटा एमएसआरटीसी के लिए काम करता था और वो जलगाँव डिपो में तैनात था। वह कर्ज से जूझ रहा था और अनियमित और कम वेतन पाता था इसलिए उसने आत्महत्या कर ली।"प्रशासन ने भी इस खबर का संज्ञान लेते हुए कर्मचारियों को वेतन देने की बात कही है। महाराष्ट्र राज्य परिवहन मंत्री ने कहा, "जिन राज्य परिवहन कर्मचारियों को लंबे समय से वेतन नहीं मिला है उन्हें आज एक महीने का वेतन दिया जाना है। दिवाली से पहले उन्हें 2 महीने का वेतन मिलेगा। उन्हें निराश होने और आत्महत्या जैसे बड़े कदम उठाने की आवश्यकता नहीं है।

Updated : 2020-11-09T17:23:50+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top