Home > ब्लॉग > पुरवा सुहानी आई रे..:दक्षिण-पूरब में चुनाव,भाजपा-कांग्रेस में मची होड़

पुरवा सुहानी आई रे..:दक्षिण-पूरब में चुनाव,भाजपा-कांग्रेस में मची होड़

पुरवा सुहानी आई रे..:दक्षिण-पूरब में चुनाव,भाजपा-कांग्रेस में मची होड़
X

साल 2021 में पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव हैं। पूर्वी भारत के दो राज्य और दक्षिण के तीन राज्यों में चुनाव है। प. बंगाल,असम के अलावा दक्षिण भारत के तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में चुनाव होना है. भाजपा की राजनीतिक यात्रा में दक्षिण भारत में पांच दशकों से दूर रहने के बाद अब पैठ जमाने की कोशिश में है. भाजपा दक्षिण भारत में कमल खिलाने की कोशिश कर रही है. उत्तर भारत में कांग्रेस की जड़ें कमजोर करने के बाद भाजपा अब दक्षिण भारत को भी कांग्रेस मुक्त करने की कोशिश कर रही है.

उत्तर भारत और हिंदी भाषी समझी जानेवाली भाजपा ने दक्षिण की गैर हिंदी भाषी जमीन पर 'कमल' खिलाया था. जैसे कर्नाटक और तेलंगाना म्यूनिसिपल चुनाव में। भाजपा ने साल 2021 के चुनाव में एआईडीएमके के साथ गठजोड़ कर विधानसभा में प्रवेश करने की तैयारी में है. कन्याकुमारी लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद संसद में प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. भाजपा अब कर्नाटक से आगे तमिलनाडु में पैठ बढ़ा रही रही है. केरल में हाल ही में हुए स्थानीय निकाय चुनावों में भाजपा उपस्थिति दर्ज करा चुकी है। पुडुचेरी में कांग्रेस की सरकार गिरने के बाद भाजपा का मनोबल बढ़ा हुआ है. पुडुचेरी 33 सदस्यों वाली विधानसभा है. इनमें तीन सदस्य मनोनीत होते हैं.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केरल विधानसभा क्षेत्र में 'ऐश्वर्य यात्रा' के समापन पर उत्तर-दक्षिण भारत की तुलना करते हुए विवादित बयान दे दिया था. बाद में कांग्रेस के नेताओं ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया था. राहुल गांधी ने कहा था कि ''पहले 15 साल मैं उत्तर भारत से सांसद रहा. इसलिए मुझे अलग तरह की राजनीति की आदत हो गयी थी. मेरे लिए केरल आना नया अनुभव था. क्योंकि, हमने देखा कि लोग मुद्दों में ज्यादा रूचि रखते हैं, दक्षिण भारत में पैठ जमाने में भाजपा जुटी है. नरेंद्र मोदी आज तमिलनाडु जाने से पहले एम्स में कोरोना वैक्सीन लगवायी. उन्हें पुडुचेरी की सिस्टर पी निवेदा ने वैक्सीन की पहली खुराक दी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पुडुचेरी भी जानेवाले हैं. पश्चिम बंगाल और असम की बात की जाये तो कोरोना वैक्सीन लेने के समय प्रधानमंत्री के कंधे पर असम का गमछा था।

Updated : 2021-03-01T15:28:57+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top