Top
Home > ब्लॉग > बिहार में 'का बा' के बाद अब ई बा' पर गरमाई सियासत

बिहार में 'का बा' के बाद अब ई बा' पर गरमाई सियासत

बिहार में का बा के बाद  अब ई बा पर गरमाई सियासत
X

फाइल photo

पटना। 'बिहार में का बा' और 'बिहार में ई बा' इस विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा ये मुद्दा ट्रेंड कर रहा है. बिहार में जारी चुनावी सरगर्मी के बीच विपक्ष के नेताओं ने जहां 'बिहार में का बा' का इस्तेमाल कर रहे हैं तो वहीं इसके जवाब में भाजपा ने 'बिहार में ई बा' गाने से दे रही है. भाजपा ने मंगलवार को 'बिहार में ई बा' गाने को लॉन्च कर अपने चुनावी प्रचार का हिस्सा बनाया है. अब इस पर सियासी बयानबाजी शुरू हो गई है। जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने 'बिहार में ई बा' पर भाजपा नेता और सूबे के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को घेरा है. भाजपा के कैंपन गाने 'बिहार में ई बा' पर पप्पू यादव ने ट्वीट कर सुशील मोदी पर निशाना साधा है.

पप्पू यादव ने उपमुख्यमंत्री को पिछले साल राजधानी पटना में हुए जलजमाव के बहाने घेरा है. वहीं राजद नेता और राज्यसभा सांसद मनोज कुमार झा ने भी ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है. 'बिहार में का बा' और 'बिहार में ई बा' काफी चर्चा में है। 'बिहार में ई बा' गाना लॉन्च किया था. भोजपुरी में तैयार इस वीडियो में कहा गया है। एनडीए के राज में बदलल बिहार बा। वीडियो के माध्यम से पार्टी ने बताया है कि एनडीए सरकार ने बिहार में क्या-क्या किया है. ऐसे कई वीडियो बनाए हैं जिनके जरिए 'बिहार में का बा' का जवाब 'बिहार में ई बा' से दिया जा रहा है. मालूम हो कि अभिनेता मनोज वाजपेयी के रैप सॉन्ग 'मुंबई में का बा को काफी सराहना मिली थी, जिसमें बिहार के लोगों के पलायन का मुद्दा दिखाय गया था।

Updated : 14 Oct 2020 12:13 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top