Top
Home > ब्लॉग > भगवान शिव की नगरी काशी में 'जस्‍ट‍िस फॉर सुशां‍त'

भगवान शिव की नगरी काशी में 'जस्‍ट‍िस फॉर सुशां‍त'

भगवान शिव की नगरी काशी में जस्‍ट‍िस फॉर सुशां‍त
X

Social media

मुंबई। सुशांत सिंह को न्‍याय दिलाने का अभि‍यान अब बनारस पहुंच गया है। #VaranasiRoar4SSR हैश टैग के साथ लोगों से इस आयोजन में जुड़ने की अपील की गई। इसमें शिव की नगरी काशी में सुशांत सिंह के फैन उनके लिए न्‍याय की मांग कर रहे हैं। 15 अक्‍टूबर को सुशांत के लिए काशी के अस्‍सी घाट पर मेमोरियल यात्रा निकाली गई। इसमें अब तक हजारों लोग ट्वीट कर चुके हैं। लोग 'नो जस्‍ट‍िस नो वोट' का नारा दिए। सुशांत के प्रशंसक उन्‍हें न्‍याय दिलाने के लिए प्रार्थना किए। खबर है कि CBI ने एक बार फि‍र से दिशा सालियान की संदिग्‍ध मौत के मामले में सक्रि‍यता दिखाई है।

गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत अपने घर में मृत पाए गए थे। मामला सीबीआई को जांच के लिए सौंपा गया था। सुशांत की मौत के कुछ ही दिन पहले उनकी पूर्व मैनेजर दिशा सालियान की भी संदिग्ध मौत हो गई थी। इन घटनाओं के बाद की जा रही जांच में बॉलीवुड सवालों के घेरे में है। जांच अब तक हत्‍या, आत्‍महत्‍या और ड्रग कनेक्‍शन के बीच उलझी हुई है। मामले में जांच एजेंसियां सुशांत की दोस्‍त रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक चक्रवर्ती को जेल भी भेज चुकी है। रिया फि‍लहाल जमानत पर बाहर है, पर सोशल मीडि‍या पर सुशांत और दि‍शा की मौत के राज को जानने के लिए और उन्‍हें न्‍याय दिलाने के लिए लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं।

सीबीआई की जांच जारी

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले की जांच कर रही सीबीआई ने कहा है कि फिलहाल मामले की जांच जारी है. सीबीआई किसी भी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है. सीबीआई ने कहा कि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में इस तरह की अटकले लगाई गई हैं कि सीबीआई निष्कर्ष पर पहुंच गई है, लेकिन ये पूरी तरह से तथ्यहीन बात है। सीबीआई ने कहा कि भविष्य में भी ये बात दोहराई जा सकती है लेकिन वो बिलकुल तथ्यहीन, काल्पनिक और गलत होगी. सीबीआई ने ये बातें उन मीडिया रिपोर्ट्स के जवाब में कही है जिसमें ये कहा गया है कि सीबीआई अपनी जांच पूरी कर चुकी है और जल्दी ही कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट दाखिल करेगी. बुधवार की सुबह ये बात कई मीडिया रिपोर्ट्स में कही गई।

वाराणसी में मेमोरियल यात्रा

सुशांत सिंह और मैनेजर दिशा को न्‍याय दिलाने के लिए वाराणसी में 15 अक्टूबर को मेमोरियल यात्रा के साथ ही गंगा तट पर सुशांत की आत्‍मा के लिए यज्ञ और दान पुण्‍य का कार्यक्रम भी आयोजित किया गया। सोशल मीडिया पर जारी कैंपेन के बाद गुरुवार को सुशांत के समर्थक अस्‍सी घाट पर आए और उनकी आत्‍मा की शांति के लिए अनुष्‍ठान करने के साथ ही मां गंगा की स्‍तुति की। आयोजकों ने बताया कि सुशांत भगवान शिव के बड़े भक्‍त थे, लिहाजा काशी में भी आयोजन और धार्मिक अनुष्‍ठान उनके लिए किया जा रहा है।

-सुभाष गिरी-




Updated : 2020-10-15T18:58:17+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top