Top
Home > ब्लॉग > बिहार में का बा, अब रैलियों का घमासान बा!

बिहार में का बा, अब रैलियों का घमासान बा!

बिहार में का बा, अब रैलियों का घमासान बा!
X

Social media

कोरोना काल में बिहार चुनाव कैसे होगा। यह ऐसा पहना चुनाव है जो कोरोना काल में हो रहा है। चुनाव आयोग ने भी इसके लिए विशेष तैयारी की है। पार्टियां अभी तक वैसे तो वर्चुअल रैलियां कर रही थी, अब एक्चुअल रैली शुरू हो चुकी है। पीएम मोदी और नीतीश कुमार की एक साथ रैलियों का ब्लू प्रिंट तैयार हो गया है। हालांकि अभी तारीख का ऐलान नहीं हुआ है। चिराग पासवान 21 से रैली करेंगे तो वहीं राहुल और प्रियंका की रैली की तारीखें तय हो गई हैं। राहुल गांधी जहां छह चुनावी कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे वहीं प्रियंका भी तीन जनसभाओं को संबोधित करेंगी। राहुल गांधी का वर्चुअल संवाद 21, 24, 27, 29, एक और पांच नवम्बर को होगा। कांग्रेसी सूत्रों का कहना है कि राहुल हर दिन दो चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे। एकाध साझा रैली की भी तैयारी की जा रही है जिसमें नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव सहित महागठबंधन के अन्य नेता मंच साझा करेंगे। वहीं बिहार चुनाव में पार्टी ने अपने खास रणनीतिकारों रणदीप सुरजेवाला और मोहनप्रकाश को कमान सौंपी है। उनके गुरुवार को यहां पहुंचने की संभावना है।

वहीं बिहार भाजपा के सह मीडिया ने बताया कि पार्टी के कई बड़े नेताओं का चुनावी दौरा, बैठक व नामांकन समारोह में शामिल होने का कार्यक्रम तय है। बुधवार को उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और विधान पार्षद सम्राट चौधरी 12 बजे बड़हरा तो डेढ़ बजे गया के वजीरगंज में चुनावी जनसभा को संबोधित किया। जबकि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधामोहन सिंह बुधवार को 10:30 बजे बेतिया में नामांकन के बाद 12 बजे होने वाली चकिया की जनसभा को संबोधित किया। इसके बाद इन दोनों नेताओं की सभा रक्सौल में डेढ़ बजे हुई। आरा के रमना मैदान में चुनावी सभा को संबोधित किया। वहीं बिहार प्रभारी सांसद भूपेन्द्र यादव 11 बजे बाढ़ चुनाव कार्यालय का उद्घाटन किया। जबकि महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस और मंत्री मंगल पांडेय 12 बजे मधुबनी के राजनगर तो 1:40 बजे मधुबनी शहर व लहेरियासराय में जनसभा की।




Updated : 14 Oct 2020 10:38 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top